Best 1000 Samanarthi Shabda| पर्यायवाची शब्द I Similar Words in Hindi |

Samanarthi Shabda (पर्यायवाची शब्द) इस लेख मे हम 1000 से ज्यादा Samanarthi Shabda वाले शब्दों के बारे मे पढंगे।

नमस्कार दोस्तों ये लेख बच्चों की पढाई के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। इस लेख की मद्द से आप अपने बच्चों को अपने घर पर ही पढा सकते है। और उनको हिन्दी व्याकरण की Samanarthi Shabda (पर्यायवाची शब्द) का भी ज्ञान प्रदान सकते है।

Samanarthi Shabda (पर्यायवाची शब्द)
Samanarthi Shabda (पर्यायवाची शब्द)

इस लेख मे हम Samanarthi Shabda (पर्यायवाची शब्द) की प्रयोग करना भी शीखेगे। इस लेख अपको 1000 से ज्याद Samanarthi Shabda (पर्यायवाची शब्द)  के example भी दिए जाएँगे। आपके लिए और अपके बच्चों के लिए एक Pdf भी दी जाएगी। इससे आप Samanarthi Shabda (पर्यायवाची शब्द) को पढना और लिखना शीख सके।

Samanarthi Shabda (पर्यायवाची शब्द किसे कहते है)

Samanarthi Shabda  या पर्यायवाची शब्द का अर्थ होता है एक शब्द के अनेक अर्थ का होना। इसका अर्थ है किसी एक शब्द को या किसी एक वस्तु को हम अन्य नामो से भी बुला सके। उन्हे हम Samanarthi Shabda  या पर्यायवाची शब्द कहते है।

जैसे –

आत्मा    जीव, सर्वव्यापी, विभु, सर्वज्ञ, क्षेत्रज्ञ, चैतन्य, प्राणी, प्राण, जान, जीवन, ब्रह्म।
आज्ञाआदेश, हुक्म, फरमान, आयसु, शासनादेश, निर्देश।
आश्चर्यअचरज, अचम्भा, कौतूहल, ताज्जुब, विस्मय, हैरत, हैरानी

‘अ’ से सुरु होने वाले Samanarthi Shabda [पर्यायवाची शब्द]

1 . अधर्म – पाप, अनाचार, अनीत, अन्याय, अपकर्म, जुल्म।  
2 . अंधा – नेत्रहीन, अन्ध, सूरदास, चक्षुविहीन।  
3 . अनार – शुकप्रिय, रामबीज, दाडिम, शुकोदन।  
4 . अक्षर – वर्ण, हरफ।  
5 . अम्बा – माता, जननी, माँ, जन्मदात्री, प्रसूता।  
6 . अधर – ओठ, रदन, ओष्ठ, छद, रदपुट, दंतुवास, दंतवस्त्र।  
7 . अंतःपुर – जनानखाना, रनिवास, भोगपुर ।  
8 . अनादर – अवमान, बेइज्जती, तिरस्कार।  
9 . अभिजात – विशिष्टं, सम्भ्रान्त, श्रेष्ठ, उच्च, कुलीन।  
10 . अभिप्राय – तात्पर्य, आशय, मतलब, उद्देश्य, मंशा।  
11 . अंगूठी – अंगुलिका, मुद्रा, मुंदरी, छाप, मुद्रिका, छल्ला।  
12 . अधिकार – शक्ति, सामर्थ्य, योग्यता, अर्हता, क्षमता।  
13 . अधीर – विकल, व्यग्र, आतुर, व्याकुल, उद्विग्न।  
14 . अनिवार्य जरूरी, अपरिहार्य, आवश्यक, अटल, लाजिमी।  
15 . अग्नि – आग, अनल, पावक, वह्नि, हुताशन, कृशानु, दहन, ज्वाला, वैश्वानर, धूम्रकेतु, जातवेद, हुतभुक, शिखी, अरूण, धनंजय, वृत्रहा, पिंगल, शुचि।  
16 . अज्ञानी – अबोध, मूर्ख, अज्ञ, जड़, नादान, मूढ़, निर्बुद्धि।  
17 . अचेत – मूर्च्छित, बेहोश, संज्ञाशून्य, चेतनाशून्य।  
18 . अधीन – आश्रित, निर्भर, मातहत, पराश्रित, पराधीन, परवश, वशीभूत, अवलंबित।  
19 . अचल – अडिग, दृढ़, स्थिर, अविचल, अटल।  
20 . अनुरोध – विनती, निवेदन, प्रार्थना, याचना, अभ्यर्थना।  
21 . असुर – दनुज, निशाचर, राक्षस, दैत्य, दानव, रजनीचर, यातुधान, तमचर, सुरारि, इन्द्रारि।  
22 . अमृत – पीयूष, सुधा, अमिय, सोम, सुरंभोग, मधु, अमी।  
23 . अभिलाषा – वांछा, आकांक्षा, लालसा, इच्छा, कामना, चाह।  
24 . अनुपम – अपूर्व, अद्वितीय, अद्भुत, अतुल, अनोखा, निराला, अनूप, विचित्र, विलक्षण, अंसामान्य, अनूठा।  
25 . अध्यापक – प्रवक्ता, शिक्षक, आचार्य, गुरू, प्राध्यापक, व्याख्याता, अंवबोधक।  
26 . अरण्य – जंगल, वन, कानन, अटवी, कान्तार, विपिन।  
27 . अभिमान – अस्मिता, अहं, अहंकार, अहम्मन्यता आत्मश्लाघा, गर्व, घमंड, दर्प, दंभ, मन, मान, मिथ्याभिमान।  
28 . अतिथि – अभ्यागत, पाहुन, आगन्तुक, मेहमान, गृहागत।  
29 . अप्सरा – देवबाला, दिव्यांगना, सुरबाला, सुरसुन्दरी, देवकामिनी।  
30 . अलंकार – आभूषण, भूषण, गहना, मण्डन, जेवर, आभरण, टूम।  
31 . अनाज – गल्ला, दाना, शस्य, धान, खाद्यान्न, अन्न, धान्य।  
32 . अर्जुन – धनंजय, पार्थ, भारत, गांडीवधारी, कौन्तेय, गुडाकेश, सव्यसाची।  
33 . अन्वेषण – अनुसंधान, खोज, गवेषण, जाँच, शोध।  
34 . अनी – कटक, दल, सेना, फौज, चमू, अनीकिनी, पलटन, लश्कर।  
35 . अश्व – घोड़ा, हय, बाजि, घोटक, तुरंग, सैन्धव, तुरंगम, आशु, विमानक।  
36 . अंग – अंश, अवयव, हिस्सा, भाग।  
37 – आँख नयन, दृग, लोचन, चक्षु, नेत्र, अक्षि, नजर, अक्ष, चश्म।  
38 . अंधकार – तम, तमिस्र, तिमिर, ध्वांत, अँधेरा, तमस्, अंधियारा।  
39 . आँसू – अश्रु, नयनजल, नेत्रनीर, नेत्रवारि।  
40 . आँगन – अँगना, अजिर, प्राङ्गण।  
41 . आयु – उम्र, वय, अवस्था, जीवनकाल, वयस, जिन्दगी।  
42 . आयुष्मान – चिरंजीव, दीर्घजीवी, शतायु।  
43 . आदर्श – प्रतिमान, मानक, प्रतिरूप।  
44 . आमदनी – कमाई, आय, मुनाफा।  
45 . आडम्बर – प्रपंच, पाखण्ड, ढोंग, ढकोसला, दिखावा, स्वांग।  
46 . आत्मा – जीव, सर्वव्यापी, विभु, सर्वज्ञ, क्षेत्रज्ञ, चैतन्य, प्राणी, प्राण, जान, जीवन, ब्रह्म।  
47 . आज्ञा – आदेश, हुक्म, फरमान, आयसु, शासनादेश, निर्देश।  
48 . आश्चर्य – अचरज, अचम्भा, कौतूहल, ताज्जुब, विस्मय, हैरत, हैरानी।  
49 . आलोचना – टीका-टिप्पणी, गुण-दोष निरूपण, समीक्षा, नुक्ताचीनी।  
50 . आकृति – आकार, बनावट, चेहरा-मोहरा, डील-डौल, गढ़न, नैन-नक्श।  
51 . आकाश – अम्बर, गगन, नभ, शून्य, अनन्त, आसमान, खगोल, पुष्कर, यु, अंतरिक्ष, अभ्र, फलक, दिव, तारापथ, नाक, व्योम।  
52 . ओठ – अधर, ओष्ठ, लब, रद्पुट, होठ, रदनच्छदै, दंतच्छद।  
53 . आश्रम – मठ, विहार, कुंटी, अखाड़ा, संघ।  
54 . आम – आम्र, रसाल, सहकार, अतिसौरभ, पिकबल्लभ, फलराज, च्युतफल।  
55 . ओझल – अंतर्धान, गायब, तिरोभूत, लुप्त।

‘ई’ से सुरु होने वाले Samanarthi Shabda [पर्यायवाची शब्द]

इस भाग मे हम ‘ई’ से सुरु होने वाले Samanarthi Shabda [पर्यायवाची शब्द] के बारे चर्चा करेगे। और जानेगे कि किस प्रकार हम Samanarthi Shabda शीख सकते है।

56 . इच्छा – स्पृहा, वाञ्छा, अभिलाषा, आकांक्षा, कामना, चाह, लिप्सा, लालसा, मनोरथ, तमन्ना, आरजू।  
57 . इन्द्र – सुरपति, देवराज, महेन्द्र, मधवा, शचीपति, पुरन्दर, सुरेश, देवेश, शक्र, देवेन्द्र, मेघवाहन, पुरुहूत, शतऋतु, वासव, सहस्राक्ष, बृत्रहा, नाकपति, अमरपति, विडोजा, वज्रपाणी, वज्रेश, पर्वतारि, सुत्रामा, शतक्रतु, वज्रधर, कौशिक, शतमन्यु।  
58 . इंद्रधनुष – सप्तवर्ण, सुरधनु, इन्द्रचाप, सुरचाप, इन्द्रायुध, शक्रचाप।  
59 . इंद्राणी – इन्द्रवधू, मधवानी, शची, शतावरी, पोलोमी, ऐंद्री, इंद्रा, पुलोमजा।  
60 . इच्छुक – उत्सुक, उत्कण्ठित, अभिलाषी, लालायित, आतुर।  
61 . ईष्या – मत्सर, स्पर्धा, कुढ़न, द्वेष, डाह, जलन, खार, रश्क, हसद।  
62 . ईश्वर – परमात्मा, परमेश्वर, भगवान, ब्रह्म, जगदीश, अगोचर, अनन्त, जगन्नाथ, जगतप्रभु, निरंजन, रब, सच्चिदानन्द, साँई, स्वयंभू, अल्लाह, खुदा, परवरदिगार।    
63 . उत्साह – उछाह, उल्लास, जोश, स्फूर्ति, हौसला, अध्यवसाय, उमंग, आह्लाद, हर्ष, जोशखरोश।  
64 . उक्ति – कथन, वचन, सूक्ति।  
65 . उत्पति – उद्भव, जन्म, आविर्भाव, जनन।  
66 . उपहार – भेंट, सौगात, तोहफा, प्राभृत।  
67 . उपदेश – दीक्षा, नसीहत, सीख, शिक्षा, निर्देशन।  
68 . उत्पात – अशान्ति, उपद्रव, झगड़ा, ऊधम, हंगामा, दंगा, हुल्लड़।  
69 . उग्र – प्रचंड, उत्कट, तेज, तीव्र, विकट, अविनीत, उद्दण्ड, भीषण।  
70 . उद्भव – उत्पत्ति, उद्गम, जन्म, उदय, उद्गमन, सृष्टि।  
71 . उपकार – भलाई, नेकी, कल्याण, हितसाधन, परोपकार।  
72 . उपवन – बाग, बगीचा, वाटिका, उद्यान, आरामगाह, गुलशन, फुलवारी।  
73 . उच्छृखल – उद्दण्ड, अक्खड़, आवारा, अंडबंड, निरंकुश, असभ्य, दुराचारी, दुष्ट, दुर्विनीत।  
74 . उपासना – आराधना, पूजा, अर्चना, सेवा, इबादत।  
75 . उत्सव – समारोह, पर्व, जलसा, त्योहार, जश्न, मंगलकार्य।  
76 . उन्नति – विकास, उत्थान, तरक्की, उन्नयन, अभ्युदय, प्रगति, उत्कर्ष, बढोतरी।  
77 . उजाड़ – जंगल, बियावान, वन, वीरान, सुनसान, निर्जन।  
78 . उपहास – खिल्ली, मजाक, हँसी, मखौल, परिहास।  
79 . उजाला – प्रकाश, रोशनी, चाँदनी।  
80 . उत्कृस्ट – उत्तम, उन्नत, श्रेष्ठ, अच्छा, बढ़िया, उम्दा, प्रवर, प्रकृष्ट।  
81 . उद्वार – मुक्ति, छुटकारा, निस्तार, रिहाई।  
82 . उपाय – युक्ति, साधन, तरकीब, तदबीर, यत्न, प्रयत्न।  
83 . ऊँट – महाग्रीव, क्रमेलक, लम्बोष्ठ, उष्ट्र, अध्वग, सल।  
84 . ऋषि – मुनि, साधु, यती, संन्यासी, तत्वज्ञ, तपस्वी।  
85 . एकत्र – समवेत, संग्रहित, संचित, समेकित, संकलित, पूंजीभूत।  
86 . एकांत – निर्जन, सुनसान, शून्य।  
87 . एकता – समानता, मेल, ऐक्य, समैक्य, संगठन, संघ, एका, एकत्व, एकसूत्रता।

Best 500 Samanarthi Shabda [पर्यायवाची शब्द]

Here we have a list of important Samanarthi Shabda  या पर्यायवाची शब्द in Hindi. These are the beat 500 Samanarthi Shabda  या पर्यायवाची शब्द |

88 . ऐश्वर्य – वैभव, संपन्नता, धन, संपत्ति, श्री, महत्ता, विभूति, बड़प्पन।  
89 . ओस – तुषार, हिमसीकर, हिमबिन्दु, तुहिनकण, हिमकण।  
90 . ओजस्वी – बलिष्ठ, बलशाली, बलवान, ओजशाली, शक्तिमान, तेजस्वी।  
91 . ओज – तेज, शक्ति, बल, वीर्य।   92 . औषधि – दवा, दवाई, भेषज।  
93 . औचक – अचानक, यकायक, सहसा, एकाएक,अकस्मात, एकदम।  
94 . कमल – राजीव, पुण्डरीक, जलज, पंकज, सरोज, सरसीरूह, उत्पल, नलिन, तामरस, कंज, शतदल, अरविन्द, अम्बुज, इंदीवर, कोकनद, जलजात, अब्ज, नीरज, सारंग, शतपत्र, वारिज, पद्म, सरसिज, कुशेशय।  
95 . कला – कौशल, फन, हुनर, शिल्प, करिश्मा, करतब।  
96 . कपट – दगा, फरेब, धोखा, छद्म, छल, प्रवंचना, व्याज, ठगी।  
97 . कपोत – कबूतर, हारीत, रक्तलोचन, पारावत, परेवा।  
98 . करुणा – दया, अनुकंपा, कृपा, कारूण्य, रहमत, मेहरबानी, प्रसाद, अनुग्रह।  
99 . कमला – इंदिरा, पद्मा, पद्मासना, भार्गवी, रमा, लक्ष्मी, लोकमाता, विष्णुप्रिया, श्री, समुद्रजा, सिंधुजा, हरिप्रिया।  
100 . कल्पवृक्ष – सुरतरू, पारिजात, कल्पद्रुम, कल्पतरू, मन्दार, हरिचन्दन, देववृक्ष, देवद्रुम।  
101 . कपड़ा – वस्त्र, चीर, वसन, पट, अम्बर, दुकूल, लिबास, परिधान, पोशाक।  
102 . कली – मुकुल, कलिका, कोरक, जालक, गुंचा, शिंगूफा, कुङ्मल, डोंडी।  
103 . कामदेव – काम, मदन, मनोज, अनंग, पंचशर, मन्मथ, कंदर्प, रतिपति, मनसिज, पुष्पधन्वा, मीनकेतु, मकरध्वज, मार, अदेह, शंबरारि, कुसुमेष, स्मर।  
104 . कायर – डरपोक, भीरू, बुजदिल, कातर।  
105 . काक – कौआ, वायस, काग, करठ, पिशुन, एकाक्ष, बलिपुष्ट, काण, करटक।  
106 . काला – स्याह, कृष्ण, श्याम, धूमिल, असित, सुरमई।  
107 . कारागार – कैदखाना, कारावास, जेल, बंदीगृह।  
108 . कार्तिकेय – कुमार, षडानन, शरभव।  
109 . कपूर – घनसार, कर्पूर, हिमवालुका।  
110 . कंठ – गला, शिरोधरा, ग्रीवा।  
111 . कर – हाथ, हस्त, बाहु, पाणि, भुज।  
112 . कर्तव्य – कर्म, कृत्य, विधेय।  
113 . कस्तूरी – मृगमद, मदलता, कस्तूरिका, मुश्क, मृगनाभि, मोदिनी, मृगी।  
114 . कान – कर्ण, श्रुतिपट।   115 . केसर – जाफरान, कश्मीरज, कुंकुम।  
116 . कमर – कटि, श्रोणि, मध्यंग।  
117 . किनारा – छोर, तीर, तट, सिरा, पुलिन, कूल, पर्यंत, सीमा, पार, कगार।  
118 . किरण – रश्मि, मयूख, मरीचि, अंशु, कर, ज्योति, दीप्ति, प्रभा, अर्चि, कला।  
119 . कुबेर – धनद, धनेश, धनाधिय, राजराय, किन्नरेश, यक्षराज, धनेश्वर, धनपाल, यक्षपति।  
120 . केला – गजवसा, कदली, भानुफल, कुन्जरासना, मोचा, रम्भा।  
121 . कृतज्ञ – आभारी, कृतार्थ, अनुगृहीत, उपकृत, ऋणी।  
122 . कृष्ण – मोहन, मुरारि, गोविन्द, गोपाल, माधव, कंसारि, यशोदानन्दन, देवकीपुत्र, वासुदेव, नन्दनन्दन, हरि, श्याम, राधावल्लभ, गोपीनाथ, मुरलीधर, द्वारिकाधीश, यदुनन्दन, वंशीधर, कान्हा, कन्हैया, मुकुन्द, दामोदर, श्यामबिहारी, केशव, गोपीवल्लभ, गिरधर।  
123 . कुत्ता – श्वा, श्वान, कुक्कुर, शुनक, सारमेव।  
124 . कोष – निधि, खजाना, भण्डार, आकर।  
125 . कोयल – कोकिल, पिक, परभृत, वसंतदूत, वसंतप्रिय, श्यामा, मदनशलाका, कलघोष, वनप्रिय, कलकंठ।  
126 . क्रूर – नृशंस, बर्बर, निर्दय, निष्ठुर, निर्मम, निर्मोही, दुष्ट।  
127 . क्रोध – कोप, रोष, अमर्ष, गुस्सा, आक्रोश, तैश, आवेश।  
128 . खल – दुर्जन, दुष्ट, धूर्त, कुटिल, नीच, अधम, पाजी, पामर, नवचर, अंडज, बदमाश।  
129 . खेल – क्रीड़ा, केलि, तमाशा।  
130 . खग – विहग, विहंग, पक्षी, द्विज, चिड़िया, पंछी, पखेरू, शंकुत, परिंदा, नभचर, अंडज।  
131 . खिड़की – गवाक्ष, झरोखा, वातायन, दरीचा, बारी, अंतार, रोशनदान।  
132 . खतरा – अन्देशा, भय, डर, खटका, आशंका।  
133 . ख़ून – रक्त, लहू, शोणित, रूधिर।  
134 . खंभा – स्तूप, स्तम्भ, खंभ।  
135 . गंगा – सुरसरि, सुरसरिता, अमरतरंगिनी, भागीरथी, मंदाकिनी, देवनदी, जाह्नवी, देवपगा, त्रिपथगा, विष्णुपदी, नदीश्वरी, सुरधुनी, जनुतनया, विष्णुपगा।  
136 . गदहा – खर, गर्दभ, बैसाखनन्दन, रासभ, धूसर, वेशर, चक्रीवान, खद, गधा।  
137 . गन्ना – ईक्षु, ऊख, ईख।  
138 . गुप्त – गूढ, रहस्यपूर्ण, परोक्ष, छिपा।  
139 . गेंद – कन्दुक, गिरिक, गेन्दुक।  
140 . गेह – भवन, सदन, मन्दिर, निकेतन, आवास, निवास, धाम, गृह, आलय, आगार, ओक, निलय, घर, मकान, अयनशाला, वास, शाला।  
141 . गणेश – लम्बोदर, गजपति, गणपति, एकदन्त, विनायक, गजवदन, मोदकप्रिय, मूषकवाहन, भवानीनन्दन, गोरीसुत, गजानन।  
142 . गरुड़ – खगेश, पन्नगारि, उरगारि, हरियान, वातनेय, खगपति, सुपर्ण, विषमुख, सरि, वैनतेय, नागांतक।  
143 . ग़रीब – दीन, अकिंचन, दरिद्र, निर्धन, कंगाल।  
144 . गाय – गौ, धेनु, सुरभी, गौरी, भद्रा, दोग्धी, गैया, गऊ, पयस्विनी।  
145 . गुफा – कंदरा, गुहा, खोह, गह्वर, दरी।  
146 . घास – तृण, दूर्वा, दूब, कुश, शाद।  
147 . घटा – घनावली, घनाली, मेघमाला, मेघाली, कादंबिनी।  
148 . घट – घड़ा, कलश, कुम्भ, कुट, गागर, घटक।  
149 . घृणा – अरुचि, नफरत, जुगुप्सा, अनिच्छा, विरति, घिन।  
150 . घृत – घी, अमृत, नवनीत, हव्य, आज्य, सर्पि, अमृतसार, क्षीरसार।  
151 . चरण – पैर, पाद, पाँव, पग, पद।  
152 . चन्दन – गन्धसार, सर्पावास, मलय, गन्धराज, श्रीखण्ड, तमाल, मलयज, संदल, मंगल्य, हरिगंध, दिव्यगंध, दारूसार।   153 . चतुर – दक्ष, पटु, कुशल, नागर विज्ञ, निपुण, प्रवीण, योग्य।  
154 . चर्म – खाल, चमड़ी, त्वचा, त्वक्।  
155 . चोर – तस्कर, रजनीचर, मोषक, कुंभिल।  
156 . चूहा – खंजक, इन्दुर, मूषक, आखु।  
157 . चन्द्रमा – चन्द्र, राकापति, राकेश, मयंक, सोम, मृगांक, हिमकर, कलानिधि, सुधाकर, निशाकर, द्विजराज, विधु, कलाधर, चाँद, तारकेश, तारापति, हिमांशु, निशिपति, रजनीपति, शशि, इन्दु।  
158 . चोटी – शीश, श्रृंग, शिखर, परकोटि, तुंग, शिरोबिंदु।  
159 . चाँदनी – कौमुदी, ज्योत्स्ना, चन्द्रिका, कुमुदकला, जुन्हाई, अंजोरिया, उजियारी, हिमकर, अमृतद्रव, चंद्रमरीचि, कलानिधि, प्रकाश, रोशनी।  
160 . चाँदी – रजत, सौध, रूपा, रूपक, रौप्य, कलधौत, जातरूप, रुप्य, खजूर।  
161 . छानबीन – पूछताछ, खोज, तफतीश, तहकीकात, जाँच पड़ताल, तलाश, अन्वेषण, अनुसंन।  
162 . छतरी – छत्र, छाता, छत्ता।  
163 . छवि – शोभा, सौंदर्य, कांति, प्रभा, आभा, छटा, चमक, दमक, आलोक, धुति, उजाला, दीप्ति।  
164 . छैला – सजीला, बाँका, शौकीन।   165 . छली – छलिया, कपटी, धोखेबाज, प्रपंची, फरेबी, ठग।  
166 . जमुना – कृष्णा, तरिन-तनुजा, रविजा, रवितनया, कालिन्दी, अर्कजा, सूर्यसुता, कालगंगा।  
167 . जल – पानी, नीर, तोय, अम्बु, सलिल, जीवन, उदक, वारि, पय, अमृत, आप, रस, आब, अंभ, अप्।  
168 . जड़ता – निष्क्रियता, निश्चेष्टता, निर्जीवता, गतिहीनता, अचेतनता, स्थिरता।  
169 . जगत् – संसार, जग, दुनिया, विश्व, भव, जगती, जहान, लोक।  
170 . जानकी – सीता, वैदेही, जनकसुता, जनकतनया, जनकात्मजा, जनकनंदिनी, भूमिजा, रामप्रिया, जाह्नवी।  
171 . जीभ – जिह्वा, रसना, रसिका, रसला, रसज्ञा, जुबान, रसा।  
172 . झोंपड़ी – छानी, पर्णकुटी, कुटिया, अ॒पा, मड़वा, कुंज।  
173 . झरना – उत्स, स्त्रोत, प्रपात, निर्झर, प्रस्रवण, झर, वारि, सोता।  
174 . झूठ – मिथ्या, अनृत, मृषा, असत्य।  
175 . झंडा – ध्वजा, पताका, केतु, निशान, केतन, ध्वज, वैजयंती।  
176 . टीका – व्याख्या, वृति भाषांतरण, भाष्य, विवृ।  
177 . ठिगना – बौना, वामन, नाटा।  
178 . ठीक – उपयुक्त, उचित, मुनासिब, सही, दुरूस्त, शुद्ध, अच्छा।  
179 . ठाँव – स्थान, जगह, ठिकाना, ठौर, स्थल, पता।  
180 . डरावना – भयंकर, भीषण, कराल।  
181 . ढाँढ़स – आश्वासन, तसल्ली, दिलासा, धीरज, इतमीनान, सांत्वना।  
182 . तंबू – डेरा, खेमा, वितान, कपड़कोट, छोलदारी, शिविर।  
183 . तीव्र – क्षिप्र, तीक्ष्ण, पैना, प्रखर, तेज, द्रुत।  
184 . तरकश – तूण, तूणीर, त्रोण, निषंग, इषुधी, उपासंग, तूणी।  
185 . तूफान – झंझा, अंधड़, झंझावात, प्रभंजन, आँधी।  
186 . तरुण – युवा, जवान, युवक।  
187 . ताँबा – रक्तधातु, ताम्रक, ताम्र, तामा।  
188 . तोता – शुक्र, कीर, सुआ, सुग्गा, रक्ततुण्ड, दाडिमप्रिय, मियाँमिठ्ठू, शुक, सुअटा।  
189 . तारा – तारक, उडु, सितारा, नक्षत्र, उडुगन, खद्योत।  
190 . तलवार – असि, करवाल, चन्द्रहास, खड्ग, कृपाण, शमसीर, तेग, खंग, खंजर।  
191 . तरूणी – मनोज्ञा, प्रमदा, युवती, सुंदरी, रमणी, यौवनवती, कामिनी, औरत, महिला, स्त्री, वनिता, नारी, वामा, ललना।   192 . तालाब – सर, सरोवर, पुष्कर, जलाशय, तड़ाग, पद्माकर, हृद, सरसी, ताल।  
193 . तीर – शर, बाण, सायक, नाराच, शिलीमुख, विशिख, इषु।  
194 . थाती – जमापूँजी, धरोहर, अमानत।  
195 . थोड़ा – अल्प, न्यून, जरा, कम, तनिक, परिमित, लघु, किंचित, स्वल्प।  
196 . थकान – थकावट, श्रांति, क्लाति।  
197 . दुर्लभ – दुष्प्राप्य, नायाब, अलभ्य, विरल, अप्राप्त।  
198 . दुःख – व्यथा, कष्ट, वेदना, शोक, खेद, यातना, यन्त्रणा, पीड़ा, संताप, क्लेश।  
199 . दास – सेवक, भृत्य, नौकर, परिचारक, किंकर, अनुचर, चाकर, परिचर।  
200 . देह – शरीर, तन, बदन, काया, वपु, घट, विग्रह, कलेवर, गात्र।
500+ O ki Matra ke shabd। [ Best Free Pdf] ‘ओ’ की मात्रा वाले शब्द व वाक्य।
1000+ [ Best Pdf ] ‘आ’ की मात्रा वाले शब्द व वाक्य।
ABCD Hindi mein बच्चों को सिखाएँ | A to Z सिर्फ 01 दिन मे सिखाए|
बच्चों को कैसे पढाये | बच्चों को घर पर पढाने के 10 Best तरीके |
100% बच्चों को Maths मे तेज कैसे करे?

Best Samanarthi Shabda for kids [पर्यायवाची शब्द] Paryayvachi Shabd या Samanarthi Shabd

लेख Samanarthi Shabda  या पर्यायवाची शब्द के इस भाग मे आप अपने बच्चो को घर पर ही पढा सकते है। Samanarthi Shabda  या पर्यायवाची शब्द के बारे मे।

201 . दूध – पय, गोरस, स्तन्य, दुग्ध, क्षीर, अमृत, पीयूष, अमी, अमिय।  
202 . दाँत – दन्त, दशन, द्विज, रद, रदन।  
203 . दीपक – गृहमणि, दीप, प्रदीप, दीया, ज्योति, चिराग।  
204 . दिन – दिवास, दिवस, वासर, वार, अहः।  
205 . दुर्गा – चण्डिका, सिंहवाहिनी, कालिका, कल्याणी, कुमारी, कामाक्षी, सुभद्रा, महागौरी, महाशक्ति, शांभवी, चामुण्डा, महामाया, भगवती, नारायणी, भवानी।  
206 . द्रौपदी – कृष्णा, द्रुपदसुता, पांचाली, याज्ञसेनी, सैरन्ध्री।  
207 . देवता – सुर, अमर, देव, विवुध, निर्जर, गीर्वाण, वृदारक, अमृतेश, अजर, अमर्त्य, आदित्य।  
208 . थन – कुच, स्तन, उरोज, पयोधर।  
209 . धूल – रज, माटी, मिट्टी, मृत्तिका, रेणू, धूलि, खेह, गर्द।  
210 . ध्रुव – निश्चित, अचल, स्थिर, अटल, दृढ, पक्का।  
211 . धतूरा – कनक, धतूर, मदन, करफल, कितव, मत्त।  
212 . धूप – घाम, धर्म, निदाघ, आतप।  
213 . धन – अर्थ, वित्त, पूँजी, द्रव्य, संपदा, संपत्ति, दौलत, समृद्धि, विभूति।  
214 . धनुष – धनु, कोदण्ड, शरासन, पिनाक, सारंग, चाप, कमान, विशिखासन, कार्मुक।  
215 . धनुर्धर – धनुषधारी, धन्वी, तीरंदाज, कमनैत, निषंगी।  
216 . नदी – सरिता, तटिनी, आपगा, निम्नगा, तरंगिणी, वाहिनी, स्त्रोतस्विनी, तरंगवती, शैलजा, शैवालिनी, सिंधुगामिनी।  
217 . निशा – यामिनी, रात्रि, रजनी, क्षपा, शर्वरी, रैन, निशि, विभावरी, निशीथ, तमस्विनी।  
218 . नर्क – यमलोक, यमपुर, यमालय, जहन्नुम, दोजख, रौरव, दुर्गति।  
219 . नमस्कार – प्रणाम, नमस्ते, अभिवादन, सलाम।  
220 . निर्मल – विमल, पवित्र, पावन, अमल, स्वच्छ, निष्कलुष।  
221 . नीति – रीति, राजविद्या, नय।  
222 . नैसर्गिक – स्वाभाविक, प्राकृतिक, कुदरती।  
223 . नियति – भावी, होनी, प्रारब्ध, भाग्य, देव।  
224 . नाव – नौका, पतंग, तरणी, नैया, तरी, जलयान, नौ, बेड़ी, डौंगी, तरी।  
225 . नारद – देवर्षि, ब्रह्मपुत्र, ब्रह्मर्षि।  
226 . नाश – नष्ट, विनाश, क्षय, ध्वंस, अवसान, प्रलय, हानि।  
227 . निंदा – दोषारोपण, फटकार, बुराई, भर्त्सना।  
228 . नेता – प्रमुख, सरदार, अगुआ, प्रधान, नायक, अग्रणी।  
229 . पति – वल्लभ, भर्ता, स्वामी, नाथ, प्राणनाथ, साजन, सैंया, कांत, ईश, खाविंद, शौहर, भरतार, घरवाला, बालम।  
230 . पत्नी – भार्या, दारा, वामा, परिणीता, गृहिणी, वल्लभा, कुलांगना, कलत्र, अर्धांगिनी, बहू, बधू।  
231 . पाला – हिम, प्रालेय, नीहार, तुहिन, तुषार।  
232 . प्रेम – राग, लगाव, प्रीति, स्नेह, अनुरक्ति, प्यार।  
233 . प्रातःकाल – सुबह, सवेरा, भोर, प्रभात, विहान, उषाकाल।  
234 . पराग – रज, पुष्परज, पुष्पधूलि, कुसुमरज।  
235 . पिशाच – भूत, प्रेत, राक्षस।  
236 . पृथ्वी – भू, भूमि, अचला, अनन्ता, रसा, विश्वंभरा, स्थिरा, धरा, धरित्री, धरणी, क्षोणि, ज्या, काश्यपि, क्षिति, सर्वंसहा, वसुमति, वसुधा, वसुन्धरा, गोत्रा, कुः, पृथिवी, अवनि, मेदिनी, मही, विपुला, गह्वरी, धात्री, गो, ईला, कुम्भिनी, भूतधात्री, रत्नगर्भा, जगती, सागर, अम्बरा, धरती, उवि।  
237 . परिवार – घराना, वंश, कुल, कुटुंब, खानदान, कुनबा।  
238 . पशु – मवेशी, चौपाया, जानवर, चतुष्पद, जंतु।  
239 . पत्र – पत्ता, दल, पल्लव, पर्ण, किसलय, कोंपल, पात।  
240 . पथ – मार्ग, राह, पंथ, रास्ता, डगर, बाट।  
241 . पत्थर – अश्म, पाषाण, प्रस्तर, उपल, शिला, पाहन, ग्रावा।  
242 . पर्वत – पहाड़, गिरि, शैल, अचल, नग, भूधर, महिधर, धराधर, अद्रि, भूभृत।  
243 . पार्वती – गौरी, गिरिजा, उमा, शैलसुता, ईश्वरी, शिवा, भवानी, अपर्णा, दुर्गा, आर्या, अम्बिका, रूद्राणी, हेमवती, मैनसुता।   244 . पिता – जनक, तात, पितृ, बाप, अब्बा।  
245 . पंडित – प्राज्ञ, कोविद, मनीषी, विद्वान, सुधी, विचक्षण, धीर, बुध, बुद्धिमान, विज्ञ।  
246 . पुत्र – सुत, बेटा, तनय, आत्मज, तनुज, नन्दन, अपत्य, पूत।  
247 . पुत्री – बेटी, सुता, तनया, आत्मजा, तनुजा, नन्दिनी, दुहिता।  
248 . पवन – वायु, वात, हवा, समीर, बयार, अनिल, पवमान, मारूत।  
249 . पुष्प – फूल, कुसुम, सुमन, प्रसून, पुहुप, फुल्ल, गुल।  
250 . पुरुष – आदमी, जन, नर; मर्द, मनुज, मनुष्य, मानव, मानुष।  
251 . पेड़ – तरू, द्रुम, वृक्ष, पादप, रूँख, विटप, गाछ, शाखी।  
252 . बुद्धि – धी, मनीषा, प्रज्ञा, मति, समझ, अक्ल, जेहन, मेधा, धिषणा, सुजान।  
253 . बंदर – कपि, मर्कट, कीश, वार, हरि, शाखामृग, वानर, केलिप्रिय, पिंगल, दर्भ।  
254 . बहिन – सहोदरा, बांधवी, भगिनि, सहगर्भिणी, दीदी, जीजी।  
255 . बाल – कच, केश, चिकुर, चूल, कुंतल, जटा, शिरोरूह, मेचक, काकुल, पश्म, गेसू, अलक, जुल्फ।  
256 . बादल – जलद, जलधर, नीरद, पयोद, मेघ, वारिद, वारिधर, धन, पयोधर, अभ्र, बलाहक, अब्द, अंबुद, वारिवाह।  
257 . बैल – हलधर, वृषभ, गोसुत, अनड्वान्।  
258 . बर्तन – पात्र, बासन, भाँडा।  
259 . बलराम – बलभद्र, हलायुध, मूसली, रेवतीरमण, बलदेव, बलवीर, हली, रोहिणीनन्दन, हलधर।  
260 . बहुत – अनेक, अतीव, अति बहुल, प्रचुर, अपरिमित, प्रभूत अपार, अमित, अत्यन्त, असंख्य, विपुल।  
261 . ब्राहमण – द्विज, भूदेव, विप्र, महीदेव, भूमिसुर, भूमिदेव, भूसुर, अग्रजन्मा।  
262 . बिजली – चपला, चंचला, विद्युत, दामिनी, तड़ित, क्षणप्रभा, बिजुरी, घनवल्ली, सौदामिनी, घनदाम, शमा।  
263 . भय – भीति, डर, विभीषिका, आतंक, त्रास।  
264 . भूखा – भुवखड़, क्षुधार्त्त, बुभुक्षित, क्षुधातुर, क्षुधालु।  
265 . भाई – तात, भ्राता, भ्रातृ, सहोदर, बंधु, भैया, सजाता, सगर्भा।  
266 . भेंट – नजराना, उपहार, सौगात, इनाम, पुरस्कार।  
267 . महेश – त्रिपुरारि, कैलाशपति, मदनारि, शिव शंकर, भूतनाथ, चन्द्रशेखर, चन्द्रमौलि, भोले, रूद्र, त्रिलोचन, त्रिनेत्र, आशुतोष, पशुपति, शम्भु, उमापति, सतीपति।  
268 . मधुप – भ्रमर, अलि, भौंरा, भुंग, षट्पद, मधुकर, द्विरेफ, चंचरीक, मिलिंद, भँवरा।  
269 . मेंढक – दादुर, दर्दुर, वर्षाभू, मंडूक।  
270 . मूर्ख – जड़, अज्ञ, मूढ़, निर्बुद्धि।  
271 . मुख – चेहरा, आनन, मुँह, वदन।  
272 . मृत्यु – मरण, निधन, स्वर्गवास, देहावसान, देहान्त।  
273 . मार्ग – रास्ता, पथ, पंथ, राह, बाट, मग, डगर।  
274 . मछली – मत्स्य, मीन, शफरी, झख, जलजीवन, मकर, झष।  
275 . मदिरा – शराब, मद्य, सुरा, सोमरस, मधु, आसव, वारूणी, हाला, कादम्बरी, मद, दारू।  
276 . मैला – अस्वच्छ, अशुचि, अपवित्र, गन्दा, मलिन, म्लान, कलुषित।  
277 . माँ – अंबा, अम्बिका, अम्मा, जननी, धात्री, प्रसू, माता, जन्मदात्री, महतारी, अम्ब।  
278 . माला – हार, मालिका, दाम, गुणिका, सुमिरनी, माल्य।  
279 . मरण – निधन, प्राणान्त, देहावसान, देहान्त, स्वर्गवास, मृत्यु, इंतकाल, काशीवास, गंगालाभ, निर्वाण।  
280 . मुक्ति – मोक्ष, कैवल्य, अपवर्ग, परमधाम, परमपद, सद्गति, निर्वाण।  
281 . मयूर – केकी, शिखी, शिखंडी, नीलकंठ, मोर, कलाजी, शिव-सुतवाहन, वीं, सारंग।  
282 . मोती – मुक्ता, मौक्तिक, शशिप्रभा, सीपज, स्वातिसुत, शुक्तिज।  
283 . मुनि – यती, अवधूत, सन्यासी, वैरागी, तापस, संत, भिक्षु, महात्मा, साधु, योगी, व्रती।  
284 . मुर्गा – अरूणशिखा, ताम्रचूड़, कुक्कुट, ताम्रशिख, उपाकर, तमचुर।  
285 . मूंगा – प्रवाल, रक्तांग, विद्रुम, रक्तमणि।  
286 . मैना – सारी, सारिका, मधुरालाषा, कलहप्रिया, चित्रनेत्रा, चित्राक्षी, मधुरालया, चित्रलोचना।  
287 . मीत – सहचर, सखा, सुहृद, सपक्ष, मित्र, संगी, साथी, दोस्त, यार।  
288 . यम – यमराज, कृतांत, रविसुत, धर्मराज, काल, अंतक, जीवितेश, सूर्यपुत्र, दंडधर,शमन, कीनाश, श्राद्धदेव।  
289 . युद्ध – समर, रण, संग्राम, विग्रह, संघर्ष, लड़ाई।  
290 . रोगी – रोगग्रस्त, व्याधिग्रस्त, रूग्ण, अस्वस्थ, बीमार, मरीज।  
291 . राजा – भूपाल, नरेश, नरपाल, महीप, राव, नरेन्द्र, नृप, भूप, भूपति, महीपाल, महीश, नरपति, शासक।  
292 . रानी – राज्ञी, राजपत्नी, महिषी, साम्राज्ञी।  
293 . राम – रामचन्द्र, रघुनन्दन, दशरथपुत्र, सीतापति, कौशल्यानन्दन, रघुपति, राघव, रघुराज, रावणारि, कमलेन्द्र, रघुनाथ, रघुवर, अवधेश, पुरूषोत्तम, रघुवीर, कौशलेन्द्र।  
294 . रावण – दशानन, लंकेश, लंकापति, दशाशीश, दशकंध, दैत्येन्द्र, दशकंधर, दशवदन, दशकंठ।  
295 . राधिका – राधा, ब्रजरानी, हरिप्रिया, वृषभानुजा, कृष्णप्रिया।  
296 . लड़का – बालक, शिशु, सुत, किशोर, कुमार।  
297 . लड़की – बालिका, कुमारी, किशोरी, बाला।  
298 . लहर – वीचि, तरंग, ऊर्मि, मौज, हिलोर।  
299 . लज्जा – लाज, शर्म, हया।  
300 . लता – विवाह वल्लरी, बल्ली, बेली, बेल, लतिका, मंजरी।  
301 . लक्ष्मण – लखन, शेषावतार, सौमित्र, रामानुज, शेष, अनंत।
302 . लौह – लोहा, अयस, सार।  
303 . वर्षा – पावस, बरसात, बरखा, मेह, वृष्टि, वर्षण, बारिश, दुर्दिन।  
304 . विष – हलाहल, गरल, कालकूट, जहर, माहुर।  
305 . वर्ष – बरस, अब्द, साल, वत्सर।  
306 . विवाह – पाणिग्रहण, ब्याह, शादी, गठजोड़, परिणय-सूत्र।  
307 . विघ्न – रूकावट, रोड़ा, अड़चन, व्याघात, बाधा।  
308 . विनिमय – आदान-प्रदान, लेन-देन, अदला-बदली, व्यतिहार, उलटा-पलटा।  
309 . विधवा – अनाथा, पतिहीना, राँड।  
310 . वियोग – विरह, विप्रलंभ, बिछोह, जुदाई, बिछूड़न।  
311 . व्यर्थ – फिजूल, वृथा, निरर्थक, बेकार, बेफायदा, निष्प्रयोजन।  
312 . वीर्य – जीवन, सार, तेज, शुक्र, बीज, बल, पराक्रम, शक्ति, शूरता, वीरता।  
313 . वज्र – पवि, अशनि, कुलिश, दंयोलि।  
314 . विष्णु – हरिः, श्रीपति, लक्ष्मीपति, चतुर्भुज, रमापति, रमेश, चक्रपाणि, जनार्दन, मुकुन्द, नारायण, माधव, केशव, कमलापति, गोविंद, उपेन्द्र, दामोदर, गरुडध्वज, विट्टल, वनमाली, पीताम्बर, विश्वंभर, मध्वरी, शेषशायी, मधुरिपु।  
315 . विशाल – विराट, दीर्घ, वृहत्, बड़ा, महा, महान, विस्तृत, विस्तीर्ण।  
316 . शत्रु – विपक्षी, अरि, प्रतिपक्षी, बैरी, अमित्र, रिपु, दुश्मन, अराति।  
317 . शहद – पुष्परस, मधु, आसव, रस, मकरकन्द, माक्षिक।  
318 . शिष्ट – विनीति, सुसंस्कृत, सुशील, सभ्य, शालीन, सौम्य, भद्र, नम्र।  
319 . शेषनाग – फणींद्र, सर्पराज, उरगाधिपति, नागराज, शेष, फणीश, वासुकि, धरणीधर, सहस्त्रानन, अहीश, सर्पपति, सहाजासन।  
320 . शोभा – सुन्दरता, सौन्दर्य, छटा, मनोहरता, सुषमा।  
321 . शुभ्र – गौर, श्वेत, अमल, वलक्ष, धवल, शुक्ल, अवदात।  
322 . शेर – केहरि, केशरी, वनराज, सिंह, शार्दूल, हरि, मृगराज, नाहर, पंचानन, मृगेन्द्र, केशि, बाघ।  
323 . शिकारी – लुब्धक, व्याध, बहेलिया, आखेटक, अहेरी।  
324 . सर्प – अहि, नाग, भुजंग, विषधर, व्याल, उरग, पन्नग, साँप, सारंग, फणी, फणधर, सरीसृप।  
325 . संपूर्ण – सब, पूरा, पूर्ण, निखिल, अखिल, निःशेष, सकल।  
326 . सभा – अधिवेशन, परिषद्, बैठक, महासभा, समिति, संगठन, मण्डली, गोष्ठी।  
327 . सरस्वती – शारदा, वीणापाणि, वाग्देवी, वाणी, महाश्वेता, गिरा, ब्राह्यमी, भारती, वाक्, वागीशा।  
328 . सुगन्ध – इष्टगन्ध, घ्राण, सुरभि, सुवास, खुशबू, सौरभ, तर्पण।  
329 . समूह – समुदाय, वृन्द, गण, संघ, पुंज, दल, झुण्ड।  
330 . सूर्य – दिनमणि, पूषा, प्रभाकर, दिनकर, रवि, अर्क, भानु, दिनेश, आदित्य, दिवाकर, सविता, भास्कर, अंशुमाली, मार्तण्ड, आफताब, पतंग।  
331 . समुद्र – सागर, सिन्धु, उदधि, नदीश, वारिधि, अम्बुधि, नीरनिधि, रत्नाकर, पयोनिधि, अर्णव, तोयनिधि।
332 . सेना – चमू, दल, कटक।  
333 . सुरभि – सुगंध, हष्टगंध, घ्राण, तर्पण, सौरभ, सुवास।  
334 . सेविका – दासी, नौकरानी, अनुचरी, भृत्या, किंकरी, परिचारिका।  
335 . स्वर्ग – सुरलोक, देवलोक, दिव्यधाम, ब्रह्मधाम, द्यौ, नाक, धुलोक।  
336 . स्तन – पयोधर, उरोज, कुच, वक्षोज।  
337 . संध्या – सांयकाल, शाम, साँझ, प्रदोषकाल, गोधूलि।  
338 . सुन्दर – ललित, ललाम, मंजुल, रूचिर, चाक, रम्य, मनोहर।  
339 . सहेली – आली, सखी, सहचरी, सजनी, सैरन्ध्री, संगिनी, सहचारिणी।  
340 . साधु – सज्जन, भद्र, सभ्य, शिष्ट, कुलीन।  
341 . समीप – सन्निकट, आसन्न, निकट, पास।  
342 . हाथी – हस्ती, कुंजर, नाग, सिन्धुर, दन्ती, करि, द्विरद, गयंद, गज, मतंग।  
343 . हनुमान – पवनसुत, पवनकुमार, महावीर, रामदूत, मारूततनय, अंजनीपुत्र, आंजनेय, कपीश्वर, केसरीनंदन, बजरंगबली, मारूति, वज्रांगी।  
344 . हिरन – हरिण, सारंग, मृग, कुरंग, सुरभी।  
345 . हिमालय – नगपति, हिमपति, नगराज, हिमाद्रि, हिमगिरि, गिरिराज, पर्वतराज, हिमप्रस्थ, हिमांचल, नगाधिराज।  
346 . हीरा – मणिवर, वज्रमणि, हीरक, कुलिश, बजसार।  
347 . हंस – मराल, चक्रांग, कलहंस, सिपपक्ष, मानसौक, मुक्तभुक्, सरस्वती वाहन, कारंडव।  
348 . ह्रदय – उर, छाती, वक्ष, हिय, हिया, मन, अंत:पुर, अंतस, दिल, कलेजा, वक्षस्थल।  
349 . हितैषी – शुभेच्छु, हितकारी, मंगलाकांक्षी, शुभचिंतक, हितचिन्तक, शुभाकांक्षी।

खेल-खेल मे Best Samanarthi Shabda [पर्यायवाची शब्द] सीखें

इस भाग मे हमने एक Quiz आपके लिए बनाया है जिसकी मदद से आप Samanarthi Shabda [पर्यायवाची शब्द] को आसानी से सीख सकते है। ये Best Samanarthi Shabda [पर्यायवाची शब्द] quiz शीर्फ 05 मिनट का है।

2
Created on By 314f26c755beb8b798161cd4f88f26d5?s=32&d=mm&r=greadgk247
din ka paryayvachi shabd, samanarthi shabda, पर्यायवाची शब्द किसे कहते हैं, समानार्थी शब्द , Samanarthi Shabd in Hindi, Hindi Paryayvachi Shabd,

पर्यायवाची शब्द Quiz

बच्चों की पढाई के लिए बहुत ही महत्वपूर्ण है। इस लेख की मद्द से आप अपने बच्चों को अपने घर पर ही पढा सकते है। और उनको हिन्दी व्याकरण की Samanarthi Shabda (पर्यायवाची शब्द) का भी ज्ञान प्रदान सकते है।

1 / 10

शेषनाग शब्द के पर्यायवाची शब्द क्या है?

2 / 10

विष्णु शब्द के पर्यायवाची शब्द कितने होते है?

3 / 10

विष का पर्यायवाची शब्द अमृत होता है।

4 / 10

मदिरा शब्द का पर्यायवाची शब्द 'शराब' होता है।

5 / 10

Samanarthi Shabda  या पर्यायवाची शब्द का अर्थ होता है एक शब्द के अनेक अर्थ का होना। इसका अर्थ है किसी एक शब्द को या किसी एक वस्तु को हम अन्य नामो से भी बुला सके। उन्हे हम Samanarthi Shabda  या पर्यायवाची शब्द कहते है।

6 / 10

आभूषण का पर्यायवाची शब्द क्या है?

7 / 10

गुरू का पर्यायवाची शब्द क्या है?

8 / 10

अज्ञानी का पर्यायवाची शब्द क्या है?

9 / 10

माँ का पर्यायवाची शब्द क्या है?

10 / 10

शुक्र ग्रह के कुल कितने उपग्रह है?

Your score is

The average score is 30%

0%

Download Best Samanarthi Shabda  PDF [पर्यायवाची शब्द]

If you want to download this Samanarthi Shabda  या पर्यायवाची शब्द Pdf in HIndi. You can get this Samanarthi Shabda Pdf in just one click. Link is given blow-

FAQs

Q. पर्यायवाची शब्द की परिभाषा क्या है?

Ans. पर्यायवाची शब्द का अर्थ होता है एक शब्द के अनेक अर्थ का होना। इसका अर्थ है किसी एक शब्द को या कि एक वस्तु को हम अन्य नामो से भी बुला सके।

Q. पर्यायवाची को अंग्रेजी में क्या कहते हैं?

Ans. पर्यायवाची को अंग्रेजी में Synonym कहते हैं?

Q. माँ का पर्यायवाची शब्द क्या है?

Ans. माँ का पर्यायवाची शब्द- अंबा, अम्बिका, अम्मा, जननी, धात्री, प्रसू, माता, जन्मदात्री, महतारी, अम्ब।

Q. बेटा का समानार्थी शब्द क्या है?

Ans. पुत्र – सुत, बेटा, तनय, आत्मज, तनुज, नन्दन, अपत्य, पूत।

दोस्तों के साथ Share जरूर करें

Leave a Comment

Your email address will not be published.